नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना ऑनलाइन आवेदन: Nabard Yojana 2024

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

केंद्र सरकार द्वारा देश के लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए Nabard Yojana की शुरुआत की गई है| इस योजना के तहत डेयरी फार्मिंग के लिए ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सरकार द्वारा कम ब्याज पर लोन उपलब्ध कराया जाएगा| नाबार्ड योजना के तहत दिया जाने वाला ऋण बैंकों द्वारा प्रदान किया जाएगा| पशुपालन विभाग इस योजना के तहत सभी जिलों में आधुनिक डेयरी स्थापित करेगा| हम इस पोस्ट में नाबार्ड योजना 2024 से संबंधित जानकारी विस्तार से जानेंगे इसलिए पोस्ट अंत तक पढ़िए|

Nabard Yojana 2024
Nabard Yojana 2024

नाबार्ड योजना 2024

करोना वायरस आपदा से प्रभावित किसानों को राहत प्रदान करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा नाबार्ड योजना की घोषणा की गई| उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत देश के किसानों को 30000 करोड रुपए की अतिरिक्त पुनर्वित्त सहायता दी जाएगी| जो कि नाबार्ड योजना के 90000 करोड़ के अलावा होगी| इस योजना के तहत पैसा कोऑपरेटिव बैंक के माध्यम से सरकार को दिया जाएगा| जिसका फायदा देश के 3 करोड़ किसानों को होगा|

डेयरी फार्मिंग योजना 2024

इस योजना के सही ढंग से प्रचालन के लिए, पशुपालन के साथ-साथ मत्स्य पालन विभाग की सहायता भी ली जाएगी। इस योजना के अंतर्गत, ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार व्यक्तियों को स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे, ताकि वे अपना व्यवसाय आसानी से चला सकें और देश में रोजगार के अवसरों को बढ़ावा मिले। इस योजना के अन्तर्गत, देश में दूध उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा और गायों की सुरक्षा, घी निर्माण, आदि सभी कार्य मशीनों पर आधारित होंगे। जो लोग इस नाबार्ड योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।

नाबार्ड योजना 2024 का उद्देश्य

देश के ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाले कई लोग अपनी आजीविका के लिए डेयरी फार्मिंग का सहारा लेते हैं। हालांकि, डेयरी फार्मिंग व्यवस्थित नहीं होने के कारण लोगों को अधिक मुनाफा नहीं हो पाता है। Nabard Yojana 2024 के अंतर्गत डेयरी उद्योग को संगठित किया जाएगा और उसे सुचारू तरीके से प्रबंधित किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से स्व-रोजगार को प्रोत्साहित किया जाएगा और डेयरी क्षेत्र के लिए सुविधाएं प्रदान की जाएगी। Nabard Yojana का मुख्य उद्देश्य लोगों को बिना ब्याज के ऋण प्रदान करना है ताकि वे अपना व्यवसाय आसानी से चला सकें, जिसका प्रमुख उद्देश्य दूध के उत्पादन को बढ़ावा देना है, ताकि देश में बेरोजगारी को कम किया जा सके।

नाबार्ड डेयरी योजना बैंक सब्सिडी

  • दुग्ध उत्पाद (दूध के उत्पाद) निर्मित करने के लिए डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत यूनिट की शुरुआत के लिए सब्सिडी उपलब्ध है।
  • नाबार्ड डेयरी योजना के अंतर्गत, आप दूध उत्पाद को प्रोसेस करने के लिए उपकरण खरीद सकते हैं।
  • यदि आप इस प्रकार की मशीन खरीदते हैं और उसकी मूल्य 13.20 लाख रुपये होती है, तो आपको इस पर 25 फीसदी (3.30 लाख रुपये) की पूंजी सब्सिडी मिल सकती है।
  • यदि आप एससी/एसटी श्रेणी से हैं, तो आपको इसके लिए 4.40 लाख रुपये की सब्सिडी उपलब्ध हो सकती है।
  • नाबार्ड के डीडीएम ने बताया कि इस योजना में, ऋण राशि बैंक द्वारा मंजूर की जाएगी और 25% लाभार्थियों द्वारा जाएगी।
  • इस योजना से लाभ प्राप्त करने वाले व्यक्तियों को सीधे बैंक से संपर्क करना चाहिए।
  • यदि आप पांच गायों के तहत डेयरी शुरू करना चाहते हैं, तो आपको उनकी लागत का प्रमाण देना होगा।
  • सरकार 50% सब्सिडी प्रदान करेगी, जिसके लिए किसानों को बैंक को 50% अलग-अलग किस्तों में भुगतान करना होगा।

Nabard Dairy Yojana 2024

यहाँ एक संदर्भक्रम के तौर पर विवरण दिया जा रहा है, जिसमें कृषि सेक्टर में डेयरी उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाओं की बात की गई है।

पहली योजना – देसी गायों/हाइब्रिड गायों/भैंसों के लिए छोटे डेयरी यूनिट की स्थापना करना।

  • निवेश – 10 जानवरों की डेयरी के लिए ₹5,00,000/-।
  • सब्सिडी – 10 पशु डेयरी पर 25% सब्सिडी। अधिकतम अनुमति पूंजी सब्सिडी 2 पशु इकाई के लिए ₹25,000/-।

दूसरी योजना – 20 बछड़ों के पालन के लिए नस्ल और भैंसों के लिए डेयरी यूनिट की स्थापना।

  • निवेश – 20 बछड़ों इकाइयों के लिए ₹80 लाख।
  • सब्सिडी – 20 बछड़ों तक की यूनिट के लिए 25% तक की सब्सिडी।

तीसरी योजना – वर्मीकंपोस्ट और खाद की स्थापना।

  • निवेश – ₹20,000/- तक।
  • सब्सिडी – 25% तक की सब्सिडी, अधिकतम ₹4.50 लाख रुपए के निवेश पर।

चौथी योजना – दूध परीक्षकों/दूध निकालने की मशीनों के लिए निवेश।

  • निवेश – ₹18 लाख तक।
  • सब्सिडी – 25% तक की सब्सिडी, अधिकतम ₹4.50 लाख रुपए के निवेश पर।

पांचवी योजना – डेयरी प्रसंस्करण के उपकरण की खरीद।

  • निवेश – ₹12 लाख तक।
  • सब्सिडी – ₹3,00,000/- तक का पूंजी लोन पर 25% की सब्सिडी।

छठी योजना – डेयरी उत्पाद परिवहन सुविधाएँ और शीत श्रृंखला स्थापना।

  • निवेश – ₹24 लाख तक।
  • सब्सिडी – ₹7,50,000/- तक का लोन पर 25% की सब्सिडी।

सातवीं योजना – दूध और दुग्ध उत्पादों के लिए शीत भंडारण सुविधा।

  • निवेश – कम से कम ₹30 लाख।
  • सब्सिडी – 25% तक की सब्सिडी, अधिकतम ₹7,50,000/- तक।

आठवीं योजना – निजी पशु चिकित्सा क्लिनिक की स्थापना।

  • निवेश: मोबाइल क्लिनिक के लिए ₹2.40 लाख और स्थिर क्लिनिक के लिए ₹1.80 लाख।
  • सब्सिडी – 25% की सब्सिडी, अधिकतम ₹45,000/- और ₹60,000/-।

नवी योजना – डेयरी मार्केटिंग आउटलेट/डेयरी पार्लर

  • निवेश – ₹56,000/-।
  • सब्सिडी – 25% या ₹14,000/- की सब्सिडी, अधिकतम ₹18,600/-।

सोलर पैनल लगवाने पर 50% सब्सिडी

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना लाभार्थी

  • किसान
  • उद्यमी
  • कंपनियां
  • गैर सरकारी
  • संगठन संगति समूह
  • असंगठित क्षेत्र

Nabard Dairy Farming Yojana के तहत ऋण देने वाली संस्थाएं

  • व्यवसायिक बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • ग्रामीण विकास बैंक
  • क्षेत्रीय बैंक
  • अन्य संस्था जो नाबार्ड से पुनर्वित्त के लिए पात्र है

Nabard Yojana के लिए पात्रता

  • नाबार्ड योजना के अंतर्गत किसान, व्यक्तिगत उद्यमी, गैर-सरकारी संगठन, कंपनियां, असंगठित और संगठित क्षेत्र समूह आदि को सम्मिलित किया गया है।
  • इस योजना के अंतर्गत, एक व्यक्ति केवल एक बार ही लाभ उठा सकता है।
  • इसके तहत, एक ही परिवार के एक से अधिक सदस्यों को सहायता प्रदान की जा सकती है, और इसके लिए उन्हें विभिन्न आधारभूत संरचनाओं के साथ अलग-अलग इकाइयों की स्थापना के लिए मदद दी जाती है।
  • दो परियोजनाओं के बीच की दूरी कम से कम 500 मीटर होनी चाहिए।
  • एक व्यक्ति इस योजना के तहत सभी घटकों के लिए सहायता प्राप्त कर सकता है, लेकिन प्रत्येक घटक के लिए केवल एक बार ही योग्य होगा।

सोलर चूल्हा के लिए आवेदन करें

Nabard Yojana 2024 ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले, आवेदक को राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर पहुंचने के बाद, होमपेज दिखाई देगा। यहां नाबार्ड योजना का ऑप्शन उपलब्ध होगा।
  • उस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। एक बार ऑप्शन क्लिक किया जाएगा तो अगला पेज स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  • इस पेज पर आपको अपनी योजना के आधार पर पीडीएफ फॉर्म को डाउनलोड करने का ऑप्शन मिलेगा।
  • इसे डाउनलोड करने के बाद, योजना का पूरा फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको फॉर्म को भरकर सबमिट करना होगा।

नाबार्ड डेयरी फॉर्म ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

जो लोग इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं और ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें निम्नलिखित तरीकों का पालन करना होगा।

  • पहले आवेदक को यह तय करना होगा कि वह किस प्रकार का डेयरी फॉर्म खोलना चाहते हैं।
  • अगर वे नाबार्ड योजना के तहत डेयरी फार्म शुरू करना चाहते हैं, तो उन्हें अपने जिले के नाबार्ड ऑफिस में जाना होगा।
  • छोटे डेयरी फार्म खोलने की इच्छा होने पर, उन्हें अपने नजदीकी बैंक में जाकर जानकारी प्राप्त करनी होगी।
  • बैंक जाने के बाद, वे सब्सिडी फॉर्म भरकर उसमें आवेदन करेंगे।
  • जब आवेदक को ऋण की राशि बड़ी होती है, तो उन्हें नाबार्ड में अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट जमा करवानी होगी।

Important Link

Nabard Official WebsiteClick Here
Check Other PostsFamilyid.in
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Floating WhatsApp Button WhatsApp Icon